For Free Consultation, dial 73 986 73 986, 74 238 74 238 (7am-9pm)
Blog
divya medicines, divya upchar sansthan, divya upchar sansthan news, divya treatment, divya ayurveda, latest divya upchar sansthan news

Infertility

आज के बदलते वैज्ञानिक युग में जब हम आधुनिकता के पीछे अन्धाधुन्ध भाग रहे है और अपनी रोज़मर्रा की जिंदगी में अनेको विलासिताओं की वस्तुओं जैसे की Mobile Phone, A.C, Car etc. ना जाने कितने ही gadgets का प्रयोग आम तौर पर करने लगे है , तो इन सभी उपकरणों के प्रयोगों का दुष्प्रभाव भी साथ ही साथ हमारे बीच देखने को मिल रहा है क्यूंकि Towers, Mobile Phone etc से निकलने वाली rays का हमारे स्वास्थ्य पर सीधा सीधा दुष्प्रभाव पड़ रहा है और इसी के चलते आज के समय में संतानहीनता एक बड़ी ही common (सामान्य) समस्या बन गयी है। जिसके कारण आज समस्या यह है की हमारे बीच ना जाने कितने ही अनगिनत रोगों की संख्या बढ़ती जा रही है और इन्ही बढ़ते रोगों की संख्या में एक बहुत ही गंभीर समस्या है infertility ( संतानहीनता) ! शहरीकरण के बढ़ते दुष्प्रभाव के कारण infertility की समस्या बढ़ गई है।

Infertility की समस्या भारतीय युवा लड़के-लड़कियों में इतनी तेजी से फैल रही है की मानो कोई महामारी हो। 18% से 22% जोड़ें में infertility की समस्या देखी जा रही है।

यदि हाल ही में हुये एक सर्वे की माने तो आज भारत में लगभग 10 जोड़ो में से 1 जोड़ा संतानहीनता की समस्या से जूझ रहा है।

ज़रा सोचिये ,,,,,, ?

दुनिया में औरतों में infertility बढ़ने के क्या कारण है ?

आज 18% से 22% जोड़ा क्यों infertility का शिकार हुआ है ?

क्या इस बीमारी का इलाज है , क्या एक औरत इस बीमारी से बचकर माँ बनने का सुख भोग सकती है ?

National Health Survey के अनुसार पूरी दुनिया में 50 मिलियन लोग ऐसे है जो infertility से पीड़ित है।

Medical भाषा में infertility तब होती है जब व्यक्ति के reproductive tissue और शुक्र धातु पोषण रहित होते है , उसकी खास वजह है असंतुलित खान पान , hectic lifestyle और किसी भी प्रकार का anxiety, टेंशन, डिप्रेशन और कुछ निम्नलिखित यह है :-

  • Age : 30 से अधिक आयु होने पर औरतों में प्रेगनेंसी के चांस का कम होना।
  • Personal , Professional Stress, और फाइनेंसियल स्ट्रेस ( तनाव )
  • उचित खान पान की कमी
  • मोटापा और दुबलापन
  • शुगर
  • PCOD की समस्या
  • Hormonal का इम्बैलेंस होना
  • Thyroid की समस्या होना , अत्यधिक मात्रा में पिल्स का सेवन करना इन सभी कारणों से महिलाओ में हो इनफर्टिलिटी होती है।
  • शराब और तंबाकू का बढ़ता सेवन

बचाव

  • अपनी जीवनशैली व दिनचर्या को नियमित रखें।
  • अच्छे खान पान, संतुलित आहार के सेवन से इस बीमारी से बचा जा सकता है। जैसे की ताज़ी सब्जियाँ, मक्का, ताज़े फल , सलाद इत्यादि का सेवन करना !
  • विटामिन E को अपने खाने में शामिल करें जैसे की बादाम, सूरजमुखी के बीज, wheat gram oil, अखरोट, मूँगफली , अवोकाडो, आम , काली मिर्च, गाजर , कीवी, पपीता इत्यादि।
  • विटामिन E एक ऐसा चमत्कारी तत्व है जो की infertility पावर को बूस्ट करता है।
  • स्ट्रेस फ्री रहने के लिए योग, आसन, व्यायाम इत्यादि करे। जैसे की सर्वांगासन, उपाविस्टासन, मत्स्यासन , पश्चिमोत्तांसन , हस्तपदासन, कोणासन इत्यादि। इससे मसल्स स्ट्रेच होती है जिससे urogenital , digestive , Endocrine system को उत्तेजित करता है।
  • इसका अच्छा इलाज आयुर्वेद में उपलब्ध है जैसे की : स्वेदनम ( जिसमे पेशेंट को पसीना निकलवाया जाता है हैवी कंबल और एक्सरसाइज करवाकर )
  • गुडूची : यह दवाई शरीर की Blockages को खोलने के लिए दिया जाता है।
  • शतावरी, केवांच (कपिकच्छु) इत्यादि महिलाओं में infertility के लिए बताई गयी है।
  • Fridge से निकाल कर तुरंत कुछ ना खायें।

इसलिए घबरायें नहीं। आयुर्वेद के माध्यम से अब आर्थिक रूप से कमजोर दंपत्ति भी संतान सुख की और बढ़ सकते हैं।

 

For natural, ayurvedic healing of such health problem, you can consider this ayurvedic product:
https://www.divyaupchar.com/product/divya-kit/

Leave your thought

Select the fields to be shown. Others will be hidden. Drag and drop to rearrange the order.
  • Image
  • SKU
  • Rating
  • Price
  • Stock
  • Availability
  • Add to cart
  • Description
  • Content
  • Weight
  • Dimensions
  • Color
  • Attributes
Compare
Wishlist 0
Open wishlist page Continue shopping