For Free Consultation, dial 73 986 73 986, 74 238 74 238 (7am-9pm)
Blog
divya upchar sansthan news, ayurvedic govt hospital, ayurveda doctor, ayurveda centre, ayurvedic upchar, acharya manish, acharya ji, divya kit manish

“सावधान अधूरी नींद के जाने ” खतरनाक नुकसान

अच्छी सेहत के लिए सिर्फ प्रॉपर डाइट लेना ही काफी नहीं है।अच्छी नींद भी हेल्दी रहने के लिए उतनी ही जरूरी है।आजकल कई प्रफेशन में डिफरेंट शिफ्ट्स में काम होता है। ऐसे में सबसे ज्यादा नींद पर असर पड़ता है। लोग देर रात काम करते हैं और सुबह जल्दी उठकर स्कूल, कॉलेज या ऑफिस के लिए निकल जाते हैं, ऐसे में नींद पूरी ना होना लाजमी है लेकिन नींद पूरी ना होने पर लोगों को कई तरह के नुकसान झेलने पड़ते हैं।

अच्छी सेहत के लिए कम से कम 8 घंटे की नींद लेना बहुत ही जरुरी है।एक रिसर्च के मुताबिक, खराब नींद यानि छोटे-छोटे टुकड़ों में ली गई नींद बिल्कुल न सोने से भी ज्यादा खतरनाक होती है।अगर आपने इससे कम नींद ली तो आपको कई खतरनाक बीमारियां हो सकती है।

2002 में अमेरिका में 10 लाख लोगों पर हुई एक रिसर्च बताती है कि छह घंटे से कम नींद लेने वाले लोगों की जिंदगी कम होती जाती है।  ऐसे लोगों में ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और हृदय रोग होने का खतरा भी दोगुना रहता है।

आज हम आपको बताएँगे की यदि नींद पूरी न हो तो विभिन्न प्रकार की बीमारियां हमारे शरीर में घर करने लगती है आइए जानते है :-

एक शोध के अनुसार कम नींद की वजह से हार्ट अटैक, हाई ब्लड प्रेशर, स्टोक, हार्ट फेलियर और अनियमित धड़कने जैसी बीमारियों की आशंका बढ़ जाती है।

Book doctor appointment, Consult online, divya medicine, ayurvedic medicine for height gain, ayurvedic treatment for height increase

डिप्रेशन :-

डिप्रेशन का एक कारण अनिद्रा भी है।सही समय पर ध्यान न देने के कारण चिड़चिड़ाहट, भूख न लगना , गुस्सा आना और नींद न आना जैसी समस्याएं होने लगती है, जिससे कई प्रकार की और अन्य बीमारियां भी शरीर में घर करने लगती है।

 

हृदय रोग :-

नींद का हृदय स्वास्थ्य से गहरा नाता होता है।अक्सर तनाव के कारण व्यक्ति की नींद पूरी नहीं हो पाती है।इससे आपके दिल पर बहुत बुरा असर पड़ता है। इससे हार्ट अटैक तक हो सकता है।स्‍वस्‍थ दिल के लिए पर्याप्‍त नींद लेना बहुत जरूरी होता है।इसके लिए रोजाना 8 घंटे की नींद लेने की आदत डाल लीजिए, क्योंकि कम सोने की आदत आपको दिल का मरीज बना सकती है।

मोटापा :-

भरपूर नींद बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी होती है।अमेरिकी शोध के मुताबिक छह घंटे से कम सोने के कारण आपका मोटापा बढ़ सकता है।    अध्यन बताते हैं कि पेट के बढ़ते आकार का अनियमित नींद से सीधा संबंध होता है।

कमज़ोर दिमाग :-

अगर आप बढ़ती उम्र के साथ पर्याप्त नींद नहीं ले रहे, तो सावधान हो जाइए। आपके दिमाग के घटते आयतन का संबंध कम नींद से हो सकता है।ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के कई शोधों में यह साबित हो चुका है जो लोग देर से सोते हैं और सुबह को जल्दी उठ जाते हैं उनकी याददाश्त कमजोर हो जाती है।नींद के दौरान मस्तिष्क खुद को रीसेट करता है और यदि नींद पूरी न हो तो इसका प्रभाव दिमाग की कार्यक्षमता पर भी पड़ने लगता है।

क्विक डिसिजन लेने में मुश्किल होना :

यदि आप सही तरीके से नींद नहीं ले पा रहे है तो आप क्विक डिसिजन लेने में कठिनाई महसूस करेंगे।यदि यही समस्या आगे जाकर गंभीर हो जाए तो व्यक्ति रोज वाले निर्णय लेने में कन्फ्यूज होता रहेगा।

हाई ब्लड प्रेशर :-

नींद की कमी और तनावपूर्ण जीवनशैली को लम्बे समय से हाई ब्लड प्रेशर पैदा करने वाली स्थिति माना जाता है।लेकिन गहरी नींद सोने से (बीपी) को दूर रखा जा सकता है।ब्रिटिश अखबार डेली मेल में छपे एक शोध के मुताबिक जो लोग अनिद्रा की समस्या से ग्रस्त होते हैं या पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं उनमें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या देखने को मिलती है।नींद स्वस्थ जीवनशैली की एक जरूरत होती है।हकीकत में नींद न आना कोई बीमारी नहीं है, बल्कि बीमारियों को न्योते की तरह होता है।

शुगर :-

अगर आप भी कम नींद ले रहे हैं तो सतर्क हो जाइए क्योंकि इससे मेटाबोलिज्म गड़बड़ होता है।इस वजह से इन्सुलिन की मात्रा भी बिगड़ जाती है और टाइप-2 के शुगर होने का खतरा बढ़ जाता है।ऐसा ही कुछ नेचर जेनेटिक्स पत्रिका में प्रकाशित किए गए एक अनुसंधान में भी कही गई है।

ब्रेस्ट कैंसर :-

अगर महिलाएं रात में अच्छी नींद नहीं लेती है तो इससे उनमें ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा दूसरी महिलाओं के मुकाबले ज्यादा होता है। कई शोधों में ये बात सामने आई है कि नींद की कमी के कारण ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है और शरीर की कोशिकाओं को भी काफी नुकसान पहुंचा सकता है।

किडनी पर असर :-

खराब नींद किडनी पर भी बुरा असर डालती है।शरीर में ज्यादातर प्रोसेस नैचरल डेली रिद्म (सरकाडियन क्लॉक या शरीर की प्राकृतिक घड़ी) के आधार पर होते हैं।ये हमारी नींद से ही कंट्रोल होता है।एक रिसर्च के मुताबिक जब सोने की साइकल बिगड़ती है तो किडनी को नुकसान होता है।इससे किडनी से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती हैं।

For natural, 100% ayurvedic treatment of sleep disorders, depression, you can consider this medicine:
https://www.divyaupchar.com/product/divya-kit/

Leave your thought

Compare
Wishlist 0
Open Wishlist Page Continue Shopping