For Free Consultation, dial 73 986 73 986, 74 238 74 238 (7am-9pm)
Blog
herbal products, natural treatment, home remedy, best medicines, ayurveda medicine, ayurvedic, ayurveda, ayurvedic treatment, ayurvedic doctor, ayurvedic hospital

शाकाहार अपनाएं बीमारी को दूर भगाएं

सुखी रहने के लिए स्वस्थ रहना आवश्यक है शरीर स्वस्थ तो मन स्वस्थ और शरीर को स्वस्थ रखने में भोजन की अहम भूमिका है।आधुनिक समय में जहाँ फ़ास्ट फ़ूड ज्यादा प्रचलन में है वहीं सब्जियों और फलों का उपयोग कम किया जाने लगा है। ऐसे में बीमारियां शरीर में घर करने लगी है। भोजन के दो प्रकार है एक शुद्ध शाकाहारी और दूसरा मांसाहारी। एक भोजन सात्विक है और दूसरा तामसिक। दोनों में फर्क यह है की सात्विक भोजन से मन सात्विक रहता है और सात्विकता से मनोविकार की आशंकाए कम होती है। जबकि माँसाहारी यानी की तामसिक भोजन से मन, बुद्धि, स्मृति सब दूषित होती है। मानव शरीर के कार्य करने के लिए ऐसा कोई पौष्टिक तत्व नहीं है, जो वनस्पतियों से प्राप्त नहीं किया जा सकता हो। हाल ही में हुए नए शोध के अनुसार, शाकाहारी होना हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। संतुलित शाकाहारी भोजन शरीर को सभी पोषक तत्व प्रदान करता है। यही नहीं, यह शुगर, हृदय रोग,  कैंसर,  हाई ब्लड प्रेशर, जोड़ों का दर्द व अन्य कई बीमारियों से भी बचाता है।

ayurvedic cure, cure, ilaj, herbal treatment, naturopathy, allopathy, natural treatment, home remedy, no side effects medicines, best medicine, acharya manish, acharya ji, ayurvedic medicine, jeena sikho

लोगों में यह भ्रम भी काफी देखने को मिलता है की शाकाहारी भोजन सही मात्रा में कैलोरीज नहीं प्रदान करता लेकिन यह बात सत्य नहीं है। यदि शाकाहारी भोजन में सभी जरूरी पदार्थ शामिल हों तो सही मात्रा में कैलोरीज प्राप्त की जा सकती है।

हम आपको बताएँगे की शाकाहारी भोजन करने से शरीर पर क्या – क्या असर पड़ता है, आईये जानते है

बुद्धिमान बनाता है  :-

शा‍काहार भोजन करने से खाना जल्दी पचता है, साथ ही यह मस्तिष्क को सचेत रखते हुए बुद्धिमान बनाता है जबकि इसकी जगह तामसिक भोजन को पचने में कम से कम 36-60 घंटे लगते हैं। शाकाहार भोजन करने वाले व्यक्ति कम अवसाद ग्रस्त रहते हैं और तरोताजा महसूस करते हैं।

पोषक तत्वों से भरपूर :-

दाल, फलों का रस और सलाद से कई पोषक तत्व मिलते हैं जैसे की सब्जियों में बहुत से आवश्यक तत्व पाए जाते  है, जैसे विटामिन, एंटी ऑक्सीडेंट, अमीनो एसिड इत्यादि। जिससे कई घातक बीमारियों से बचा जा सकता हैं। इसके अलावा शा‍काहारी भोजन में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसायुक्त पदार्थ भी पाए जाते हैं। शाकाहारी भोजन में शरीर की जरूरत के हिसाब से कैलोरीज और विटामिन के साथ साथ फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। फाइबर हमें अनाज से मिलता है। हमारे शरीर को सबसे ज्यादा जरूरत होती है कार्बोहाड्रेट की। अगर आप सोचते हैं कि यह मांस में मिलेगा तो आप गलत हैं, क्योंकि मांस में कार्बोहाइड्रेट बिलकुल नहीं होता। यह ब्रेड, रोटी, केले और आलू वगैरह में पाया जाता है।

हृदय रोगों की संभावना कम :-

शुद्ध शा‍काहार भोजन करने वाले व्यक्तियों को हृदय से संबंधित रोग होने की संभावना कम ही रहती है। क्‍योंकि मांसाहार की तुलना में शाकाहारी भोजन में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है, जिससे यह हृदय रोगों की आशंका कम करता है।

 कैंसर से बचाव :-

शाकाहारी भोजन विभिन्न प्रकार के रोगों से हमे बचाता है। शाकाहार का सेवन करने वाले व्‍यक्तियों में कई प्रकार के कैंसर रोगों जैसे फेफड़ों का कैंसर, आंत का कैंसर इत्यादि की संभावनाएं भी कम होती हैं। शोधों में भी ये बात साबित हो चुकी है कि शाकाहार का सेवन करने वाले व्यक्तियों में स्तन कैंसर का खतरा भी कम होता है। ऐसा शाकाहारियों में एस्ट्रोजन की कम मात्रा पाए जाने के कारण होता है। अनाज, फली, फल और सब्जियों में रेशे और एंटीऑक्सीडेंट ज्यादा होते हैं, जो कैंसर को दूर रखने में सहायक होते हैं।

सब्जियों में प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट और वसा के साथ-साथ और भी बहुत से आवश्यक तत्व होते हैं। विटामिन, एंटीऑक्सीडेन्ट, अमीनो एसिड आदि जैसे तत्व भी शामिल होते हैं, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी के बचाव में सहायक होते हैं।

किडनी रोगों से बचाव ;-

किडनी की समस्या या इससे होने वाले रोगों में भी शाकाहारी भोजन लाभकारी है। शाकाहारी भोजन किडनी से संबंधित रोगों की रोकथाम में सहायक होता है। अध्ययनों के अनुसार, यूरीन के द्वारा प्रोटीन का निकल जाना, कोशिकाओं द्वारा रक्त छनने की गति, किडनी में रक्त संचार और किडनी से संबंधित विकार मांसाहारियों की तुलना में शाकाहारियों में कम पाए जाते हैं।

पाचन तंत्र बेहतर :-

शाकाहारी भोजन में रोगों से लड़ने की अच्छी क्षमता होती है, पाचन तंत्र बेहतर कार्य करता है जबकि मांसाहार को पचाने में शरीर को कठिन मेहनत करनी पड़ती है।

शाकाहारी भोजन में फाइबर अधिक मात्रा में होता हैं जिससे पाचन क्रिया सही रहती है।

हाई ब्लड प्रेशर से बचाव :-

शाकाहारियों में हाई ब्लड प्रेशर की संभावना मांसाहारियों की तुलना में बहुत कम होती है और यह वजन व नमक पर निर्भर नहीं करता। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि ऐसे लोग कॉम्लेक्स कार्बोहाईड्रेट ज्यादा मात्रा में ग्रहण करते हैं और इनमें शारीरिक स्थूलता भी कम होती है। यह शरीर में जाकर ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है। लंदन में हुए एक शोध के अनुसार उन लोगों में हाई ब्लड प्रेशर ज्यादा पाया गया जो मांस से अधिक प्रोटीन प्राप्त करते थे।

 

 

For natural, ayurvedic healing of such health problem, you can consider this ayurvedic product:
https://www.divyaupchar.com/product/divya-kit/

Leave your thought

Compare
Wishlist 0
Open wishlist page Continue shopping