For Free Consultation, dial 73 986 73 986, 74 238 74 238 (7am-9pm)
Blog
divya medicines, divya upchar sansthan, divya upchar sansthan news, divya treatment, divya ayurveda, latest divya upchar sansthan news, ayurvedic, ayurveda, ayurvedic treatment, ayurvedic doctor, ayurvedic hospital, ayurveda clinic, ayurveda doctor, ayurvedic upchar, manish, acharya manish, acharya ji, divya kit manish

“रक्तदान महादान” जाने क्यों है फायदेमंद ये दान “सेहत के लिए है वरदान”

दुनिया में 5 लाख लोगों को हर दिन रक्त की जरूरत होती है और इनमे से करीब 2 लाख लोग जीवन की लड़ाई सही समय पर रक्त ना मिलने के कारण हार जाते हैं। आकंड़ो की बात की जाए तो देश में हर साल लगभग 250 सीसी की 4 करोड़ यूनिट ब्लड की जरूरत पड़ती है। सिर्फ 5,00,000 यूनिट ब्लड ही मुहैया हो पाता है।

 रक्तदान एक जीवन देने वाली गतिविधि है जो किसी व्यक्ति के जीवन को बचा सकती है। इसलिए हम सभी को चाहिए की हम साल में कम से कम 2-3 बार रक्त दान करें और किसी जरूरतमंद की जान को बचा सकें।

रक्तदान से केवल लोगो की जान ही नहीं बचाई जाती है बल्कि रक्तदान करने वाले के लिए स्वयं भी यह काफी फायदेमंद होता है। आज हम आपको बताएँगे की कैसे रक्दान करने से रक्त देने वाले को व्यक्ति को भी स्वयं फायदा होता है, चलिए डिटेल में समझते हैं।

शरीर के लिए कितना फायदेमंद है रक्तदान करना ?

रक्तदान करने से शरीर में नया खून बनता है। जिससे शरीर हैल्दी रहता है और इससे हार्ट संबधी बीमारियां होने के चांस कम होते हैं। आइए जानिए ब्लड डोनेशन करने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

बोनमैरो नए रेड सेल्स :-

डॉक्टर्स और विशेषज्ञों के अनुसार रक्तदान करने के बाद बोनमैरो नए रेड सेल्स बनाता है। इससे शरीर को नए ब्लड सेल्स मिलने के साथ साथ तंदुरुस्ती भी मिलती है । जब कोई लगातार रक्तदान करता है तो उसमे रक्त बनने की क्रिया और तेज़ हो जाती है और ये शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालकर शरीर को स्वस्थ बनाता है।

लीवर की बीमारियों और कैंसर का जोखिम कम :-

रक्तदान करने से लीवर पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। लीवर का कार्य आयरन मेटाबॉलिज्म पर निर्भर होता है और रक्तदान से आयरन की मात्रा सही रहती है, जिससे लीवर डैमेज होने से बच सकता है। लीवर में अतिरिक्त आयरन की जमावट, लीवर के ऊतकों के ऑक्सीकरण का कारण बनती है जिससे अंगो को हानि पहुँचती है, जिसके कारण लीवर डैमेज हो सकता है जो बाद में कैंसर बन सकता है।

मानसिक संतुष्टि :-

रक्तदान करने से इंसान को दिल से खुशी महसूस होती है। इसलिए इंसान को खुश होने के लिए इससे बड़ा कोई विकल्प नहीं है। अगर किसी को ब्लड देने से किसी की जान बचती है तो इससे मन को खुशी और संतुष्टि का भाव मिलता है।

वजन रखें कंट्रोल :-

रक्तदान कैलोरी जलाने और वजन को कम करने में मदद कर सकता है। एक बार रक्तदान करने से 650-700 किलो कैलोरी घटाई जा सकती है जिससे वजन कम होगा। यह केवल बेहतर स्वास्थ्य का माध्यम है, वजन कम करने के प्लान का हिस्सा नहीं । लेकिन ब्लड डोनेट 3 महीने में एक बार ही करना चाहिए। रक्तदान आपके शरीर के वजन को नियंत्रित करने में सहायता कर सकता है।

हृदय को रखें स्वस्थ :-

रक्तदान करने से शरीर का आयरन लेवल ठीक रहता है। इसके साथ साथ यह हृदय से जुडी बीमारियों से भी बचा सकता है। ये वक्त से पहले एजिंग होने, स्ट्रोक आने और हार्ट अटैक की समस्या से बचाता है और डॉक्टर्स के अनुसार रक्तदान करने से खून पतला होता है और खून का थक्का नहीं जमता और हार्ट अटैक का खतरा टल जाता है। जो कि हृदय के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि :-

रक्तदान करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है जिससे मनुष्य लम्बे समय तक स्वस्थ रहता है और इससे उम्र भी बढ़ती है।

For natural, 100% ayurvedic treatment of diseases, you can consider this medicine:
https://www.divyaupchar.com/product/divya-kit/

Leave your thought

Compare
Wishlist 0
Open wishlist page Continue shopping