For Free Consultation, dial 73 986 73 986, 74 238 74 238 (7am-9pm)
Blog
acharya manish ji, acharya, manish, ayurveda clnic, ayurveda doctor, ayurveda vaid, vaidya, vaid, practitioner, best, new ayurvedic products, best ayurvedic doctor, ayurveda uk, jiva ayurveda, ayurvedic medicine practitioner, ayurvedic medicine health

अल्जाइमर रोग का उपचार आयुर्वेद के पास

भारत में 40 लाख से अधिक लोगों को किसी न किसी प्रकार का डिमेंशिया है। अल्जाइमर रोग डिमेंशिया का एक प्रकार है जिसके होने पर व्यक्ति की याददाश्त कम होने लगती हैं। विश्व भर में कम-से-कम 4 करोड़ 40 लाख लोग डिमेंशिया से ग्रस्त हैं, जो इस रोग को एक वैश्विक स्वास्थ्य संकट बनाते हैं जिसे संबोधित किया जाना ज़रूरी है। यह रोग एक मानसिक विकार है, जिसके कारण मरीज की याददाश्त कमजोर हो जाती है, सोचने की क्षमता, रोजमर्रा की गतिविधियों पर असर पड़ता है। अल्जाइमर रोग दिमाग की कोशिकाओं को नष्ट करता है। अल्जाइमर रोग विशेष रूप से बुजुर्गों को यानी की 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में होती है। लेकिन यह एजिंग या उम्र बढ़ने का सामान्य लक्षण नहीं है। इस समस्या में ज़्यादातर लोग व्यक्ति का नाम, हाल में हुई घटनाएं, चीज़ें रखकर भूल जाना, मन खराब होना, साधारण या रोजमर्रे के काम करने में असुविधा महसूस करना, तारीख-महीना-साल भूल जाना जैसी समस्याएं देखने को मिलती है। जैसे-जैसे यह बीमारी बढ़ती है वैसे वैसे रोगी में तकलीफें बढ़ती जाती है।

divya ayurveda, divya channel live, diet, allopathy, homeopathy, naturopathy, medicine, ayurveda franchise, upchar, herbal medicine, upchar sanstha, acharya ayurveda foundation, Ayurveda, ayurvedic clinic, ayurvedic centre

अल्जाइमर के लक्षण  :-

  • चीजों को भूलना
  • सोचने-समझने में मुश्किल होना
  • मानसिक रूप से भ्रमित होना
  • एकाग्रता में कमी
  • नई चीजें सीखने की क्षमता में कमी
  • लोगों को पहचानने में मुश्किल होना
  • बातों को बार बार दोहराना और बार-बार पूछना
  • बोलने में कठिनाई होना

अल्जाइमर रोग का कारण :-

अल्जाइमर होने का सही कारण अभी तक सामने नहीं आया है लेकिन इस बीमारी में शोधकर्ताओं के अनुसार इस बीमारी में मस्तिष्क सिकुड़ने लगता है जो याददाश्त को कम करने का कारण बनता है। जैसे जैसे यह लक्षण दिखाई देतें हैं जीवनशैली में भी परिवर्तन आने लगता है मस्तिष्क की कोशिकाओं के चारों ओर एमीलोइड प्लेक नामक एक प्रोटीन दिखने लगता है। मस्तिष्क कोशिकाओं के भीतर टाऊ नामक एक दूसरे प्रोटीन के इकट्ठा होने से गांठे बनने लगती हैं। अल्जाइमर रोग से ग्रस्त लोगों के मस्तिष्क में एक न्यूरोट्रांसमीटर एसिटाइलॉक्लिन का स्तर कम हो जाता है।

रोग का उपचार और रोकथाम :-

अल्जाइमर रोग से ग्रसित लोगों के लिए डॉक्टरों के सुझाव के मत अनुसार स्वस्थ जीवनशैली को अपना कर इस रोग के खतरे को कम किया जा सकता है क्योंकि नियमित शारीरिक गतिविधि और व्यायाम मस्तिष्क के स्वास्थ्य का सुधार करने में मदद करता है और बढ़ते अल्जाइमर रोग को कम भी कर सकता है। इसके अलावा भी कुछ महत्वपूर्ण बातें जो अल्जाइमर की बीमारी को ठीक करने में मदद कर सकती है वह ये निम्नलिखित हैं :-

  • अच्छी नींद :- यदि नींद सही ढंग से पूरी की जाए तो इसका मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव पड़ता है जिससे सोचने समझने और निर्णय लेने की क्षमता कम हो जाती है। फलस्वरूप किसी बात को याद रखना, किसी समस्या को सुलझाना इत्यादि में कठिनाई होने लगती है। इसलिए मजबूत मस्तिष्क के कार्यों को नियमित रखने के लिए भरपूर नींद लें।

 

  • स्वस्थ आहार :- अल्जाइमर रोग की समस्या को कम करने के लिए स्वस्थ आहार का सेवन करना लाभकारी होता है , जैसे की फलों का, सब्जियों का, सलाद, फलों इत्यादि का जूस, ड्राई फ्रूट्स, जैसे चीजों के सेवन से अल्जाइमर रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है।

 

  • तनाव को कम करें :- अल्जाइमर की समस्या में जरुरी है की मानसिक तनाव लिया जाए इसके लिए यह जरुरी है की मानसिक शांति को बनाएं रखें। तनाव मुक्त रहने के लिए एकांत में बैठें और मन की शांति के लिए मैडिटेशन इत्यादि करें क्योंकि मानसिक तनाव से मस्तिष्क को क्षति पहुँचती है।

 

  • नियमित रूप से व्यायाम करें :- यदि आप नियमित व्यायाम करते हैं तो अल्जाइमर जैसे बीमारी का खतरा 50% तक कम हो सकता है। इसलिए कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करें यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए अत्यंत लाभदायक साबित हो सकता है।

 

  • आयुर्वेद चिकित्सा :- आयुर्वेद में अल्जाइमर के इलाज के लिए काफी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है जैसे की इस बीमारी के होने पर अश्वगंधा, सर्पगंधा, शंखपुष्पी, ब्राम्ही, ज्योतिष्मती, हरिद्रा, कपिकछू आदि औषधियों के मिश्रण द्वारा रोगी का इलाज किया जाता है इससे रोगी के दिमाग की कोशिकाओं को सक्रीय करने में मदद करता है जिससे भूलने की समस्या में राहत मिलती है।

 

For natural, ayurvedic healing of such health problem, you can consider this ayurvedic product:
https://www.divyaupchar.com/product/divya-brain-nervous-system-kit/

Leave your thought

Select the fields to be shown. Others will be hidden. Drag and drop to rearrange the order.
  • Image
  • SKU
  • Rating
  • Price
  • Stock
  • Availability
  • Add to cart
  • Description
  • Content
  • Weight
  • Dimensions
  • Color
  • Attributes
Compare
Wishlist 0
Open wishlist page Continue shopping